• Kanika Chauhan

रोज बचाते हैं 300 रुपए और करते हैं देश-विदशों की सैर

भागती दौड़ती इस जिंदगी में अगर आपके पास अपनों के पास जाने का वक्‍त भी नहीं है तो येखबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए। जिंदादिली की मिसाल इस चायवाले ने अपनी छोटी सी कमाई में बीवी को 17 देशों की सैर करा दी है।

भारत में कॉफी आज भी फैशनेबल और ऊंचे दर्जे के लोगों की पसंद मानी जाती है लेकिन वहीं चाय की बात तो चाय का चलन बरसों से है। भारत के चौक-चौराहों पर चाय की दुकान का मिलना आम बात है। हर दफ्तर तक पहुंचने वाली चाय की प्‍यालियां लोगों को कुछ पल साथ बिताने का मौका देती है। लेकिन जरा एक बार सोचिए, क्‍या एक चाय की दुकान से इतनी कमाई हो सकती है कि वो कोई बीवी समेत दुनिया के चक्‍कर लगा आए। अगर आपको लगता है कि ऐसा संभव नहीं है तो जरा इनसे मिलिए। बेहद कम कमाई के बाद भी 17 देश घूम आया ये शख्‍स कोच्चि से है।

कोच्चि के रहने वाले 68 साल के विजयन श्रीबालाजी कॉफी हाउस नाम की एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। अपनी 67 साल की बीवी मोहना के साथ वो इस दुकान को पिछले 43 सालों से चला रहेहैं। दुकान भाले ही छोटी है लेकिन विजयन के सपने बहुत बड़े हैं। घर परिवार की जिम्मेदारी होने के वाबजूद विजयन ने अपना सपना पूरा किया।

विजयन काकहना है कि उन्हें घूमने का शौक बचपन से था। उनके पिता उन्‍हें देश में अगल-अलग जगह ले जाया करते थे। पिता की मौत के बाद घर की जिम्‍मेदारी मुझ पर आ गई। तब पूरा ध्‍यान परिवार पर लगा दिया। लेकिन 1988 के बाद वक्‍त बदला और मैंने एक बार फिर बचपन के शौक को पूरा करने के लिए काम करना शुरू किया। पत्‍नी ने भी उनके इस सपने में साथ दिया। विजयन का पसंदीदा देश स्विट्जरलैंड है।

छोटी सी दुकान में चाय पिलाकर लोगों के साथ अच्छा बर्ताव करने वाले विजयन आस-पास के लोगों के बीच काफी जाने जाते हैं। वो अपनी वाइफ मोहना के साथ दुनिया घूमने का अपना सपना पूरा कर रहे हैं। विजयन अबतक ब्रिटेन, फ्रांस, ऑस्ट्रिया, इजिप्ट, स्विट्जरलैंड, यूएई समेत 17 देशों का सफर कर चुके हैं। उनकी कमाई का जरिए चाय की दुकान के अलावा कोई दूसरा नहीं।

देश–दुनिया देखने केसपने को पूरा करने के लिए विजयन रोज बचत करते हैं। ऐसा नहीं है कि उनके पास उनका कोई पुश्‍तैनी खजाना है। इसी छोटी सी दुकान से होने वाली कमाई के जरिए हीवे अपना वर्ल्ड टूर का सपना पूरा कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने बैंक से लोन लेनाशुरू कर दिया। पहले वो खुद से कुछ रकम जोड़ते हैं और फिर उसके आधार पर बैंक से लोनलेते हैं।

विजयन और उनकी पत्‍नी मोहना रोजाना 300 रुपए सेविंग करते हैं। ऐसा वो करीब दो से तीन साल तक करते हैं। फिर बाकी पैसा लोन के रूप में लेते हैं और घूमने जाते हैं। वापस आकर कुछ सालों तक फिर उस लोन को चुकाते हैं। दोबारा बचत करते हैं और फिर अगले सफर की तैयारी में जुट जाते हैं। अपने इस शौक को पूरा करने के लिए विजय बहुत ही सावधानी से खर्च करते हैं।

#slider

2 views

Subscribe to Our Newsletter

  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram